कढ़ी (Kadhi) पूरे उत्तर भारत (North India) में बहुत  ज्यादा पसंद करने वाली डिश है। जब हम रोज सब्जी और दाल खाकर परेशान जाते है। तब हमारे मन में कढ़ी का ख्याल तुरंत से आ जाता है। कढ़ी बहुत ही सब्जियों से अलग अलग प्रकार की बनायीं जाती है और अलग अलग क्षेत्र में अलग तरह से बनायीं जाती है। आज हम पालक की कढ़ी (Palak ki Kadhi) बनायेंगें जो स्वादिष्ट होने के साथ साथ बहुत ही पौष्टिक भी होती है।

आवश्यक सामग्री (Ingredients for Palak ki Kadhi )-palak-kadhi
पालक (Spinach)- एक गड्डी
बेसन (Chickpea flour)- डेढ़ कप
दही (curd)- 2 कप (खट्टा दही)
मेथी दाना (Fenugreek seeds)- आधा चम्मच
हींग (heeng)- 2 पिंच
जीरा (cumin seed)- आधा चम्मच
हल्दी पाउडर (turmeric powder)- आधा चम्मच
हरी मिर्च (green chilly)- 3 -4 (बारीक कटी हुई)
लाल मिर्च पाउडर(Red Chilly Powder)- आधा चम्मच
नमक (Salt)- स्वादानुसार
तेल (Oil)- 2 चम्मच
हरा धनियां (Coriander Leaves)- 2 चम्मच (बारीक कटा हुआ)

विधि ( How to make Palak ki kadhi)-
पालक की कढ़ी बनाने के लिए सबसे पहले पालक के डंठलो को तोड़कर साफ कर लें और अलग किये हुए  पालक के पत्तों को पानी से 2 -3 बार धो कर चलनी में रखें। ताकि पालक के पत्तों से पूरा पानी अच्छी तरह से  निकल जाय। अब पालक के पत्तों को चाकू से बारीक काटकर एक तरफ रख लें। और अब दही को एक बड़े बर्तन में डालकर अच्छी तरह से फैंट लें , और फैंटे हुये दही में बेसन को डालकर अच्छी तरह से घोल लें। अब  घोल में करीब 3-4 कप पानी डालकर घोल को ऐसे मिलाये जिससे घोल में गुठली नहीं पड़नी चाहिये।  अब एक कढ़ाही में तेल डाल कर गरम करने के लिए रखें। जब तेल गरम हो जाये तब गरम तेल में मेथी दाना , हींग और जीरा डालकर तड़का लें। अब तेल में हल्दी पाउडर और कटी हुई हरी मिर्च डालकर चमचे से 1 मिनट के लिए मसाले को भूनें। अब कटा हुआ पालक इस मसाले में डाल कर चमचे से चला कर ढक कर धीमी गैस पर 7-8 मिनट तक पकने दें। अब पालक को ढक्कन खोलकर देखें अगर पालक गल गया हो तो बेसन के घोल को पालक में डालकर गैस तेज गैस चमचे से चलाते हुये कढ़ी को पकायें और जब तक कढ़ी में उबाल आ जाय तब तक कढ़ी  को चलाना बन्द न करें , और जब कढ़ी उबलने तब उसे चमचे से चलाना बन्द कर दें। अब कढ़ी में नमक और लाल मिर्च पाउडर डालकर गैस को धीमा करके कढ़ी को पकने दें। इसे धीमी आँच पर करीब 15-20 मिनट तक पकाना होता है। पर बीच बीच में कढ़ी को चलाते भी रहें। 20 मिनट के बाद गैस बंद कर दें। अब कढ़ी को सर्विंग बाउल में निकाल कर कटा हुआ हरा धनियां  डाल कर गार्निश करें। और गरमा गरम पालक की कढ़ी को रोटी , परांठे और चावल के साथ सर्व करें।

Pin It
Guava Chutney Recipe (अमरुद की चटनी)
Bathua Raita Recipe (बथुआ का रायता)
Palak Paratha Recipe (पालक के परांठे)
Kaju Katli Recipe (काजू कतली)
Ajwain Paratha Recipe (अजवाईन परांठा)
Mooli Ki Bhujiya Recipe (मूली की भुजियाँ)