Home Remedies To Control Low Blood Pressure (लो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के घरेलू उपाय)

आजकल के टाइम में तनाव, प्रदूषण, खानपान और अत्यंत व्यस्त जीवन शैली से ब्लड प्रेशर के लो और हाई होने की समस्या बहुत ही आम हो गयी है और ज्यादातर लोग इनसे ग्रस्त हो गए है। लो ब्लड प्रेशर (Home Remedies To Control Low Blood Pressure) के लक्षण इस प्रकार होते है जैसे – चक्कर आना, , कमजोरी महसूस होना , शरीर में कंपन होना , हार्ट बीट ज्यादा हो जाना, सिर में दर्द रहना, सुस्ती रहना और हाथ पैर ठंडे हो जाना आदि। वैसे तो हाई या लो ब्लड प्रेशर से बचने के लिए बाजार में अलग अलग तरह की बहुत सी दवाइयाँ आसानी से मिल जाती है लेकिन आज हम आपसे लो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिये कुछ घरेलू उपायों (Home Remedies To Control Low Blood Pressure) के बारे के में बात करेंगें जिससे आप लो ब्लड प्रेशर को बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के कंट्रोल कर सकते है।

small_5718956109

लो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के घरेलू उपाय (Home Remedies To Control Low Blood Pressure):-
1. लो ब्लड प्रेशर के रोगियों की डाइट काफी अच्छी और पौष्टिक होनी चाहिये, क्योकि पौष्टिक डाइट से हमारा शरीर विभिन्न बीमारियों से लड़ने के लिए तैयार हो जाता है
2. लहसुन लो ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिये बहुत ही लाभदायक माना जाता है, इसका रोजाना अपनी डाइट में यूज़ करने से लो ब्लड प्रेशर की समस्या में आराम हो जाता है।
3. रात को खाना खाने के बाद में 2-3 छुहारो को दूध में उबालकर रोजाना पीते रहने से लो ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।
4. जिन लोगों को ब्लड प्रेशर लो होता है, उन्हें सबसे पहले चक्कर आना और कमजोरी महसूस होने की समस्या होती है, इस समस्या से तुरंत से बचने के लिए नमक का घोल बहुत ही फायदेमंद होता है
5. रोजाना सुबह एक गिलास छाछ/मट्ठे में नमक, भुना हुआ जीरा पाउडर और थोडी सी भुना हुआ हींग पाउडर डालकर अच्छी तरह से मिक्स करके पीते रहने से लो ब्लड प्रेशर से काफी राहत रहती है।
6. टमाटर के जूस में पिसा हुआ काली मिर्च पाउडर और नमक मिलाकर पीना लाभदायक होता है।
7. लो बीपी को कंट्रोल करने के लिये चुकंदर का जूस और आँवला एवं सेब का मुरब्बा काफी अच्छा माना जाता है।
8. जब कभी आपको अचानक से बी पी लो होने की वजह से चक्कर आने लगे तब आँवले के रस में थोड़ा शहद मिलाकर चाटने से तुरंत ही आराम मिल जाता है।
9. लो ब्लड प्रेशर के रोगियों को सुवह के समय हरी घास पर नंगे पैर टहलना, योगा, साइकिल चलाना, तैरना, प्राणायाम आदि काफी आवश्यक माने जाते है और साथ ही साथ इन लोगों को बहुत ही पौष्टिक डाइट भी लेनी चाहिये।
photo credit: comedy_nose via photopin cc

Pin It

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *